भाव के भूखे हैं भगवान | धार्मिक कहानियां

उस समय कथावाचक व्यास डोगरे जी का जमाना था बनारस में। वहां का समाज उनका बहुत सम्मान करता था। वो चलते थे तो एक काफिला साथ-साथ चलता था । एक दिन वे दुर्गा मंदिर से दर्शन करके निकले तो एक कोने में बैठे ब्राह्मण पर दृष्टि पड़ी जो दुर्गा स्तुति पढ रहा था। वे उस … Read more

कर्मो का लेखा जोखा |धार्मिक कहानियां

एक महिला बहुत ही धार्मिक प्रवृत्ति थी ओर उसने ने नाम दान भी लिया हुआ था। भजन सिमरन व सेवा भी करती थी। किसी को कभी गलत नहीं बोला, सब से प्रेम से मिलकर रहना उस की आदत बन गई थी। वो सिर्फ एक चीज़ से दुखी थी की उस का आदमी उसके साथ रोज़ … Read more

अंतिम महल | प्रेरणादायक कहानी

एक राजा बहुत ही महत्त्वाकांक्षी था और उसे महल बनाने की बड़ी महत्त्वाकांक्षा रहती थी। उसने अनेक महलों का निर्माण करवाया! रानी उनकी इस इच्छा से बड़ी व्यथित रहती थी कि पता नहीं क्या करेंगे इतने महल बनवाकर! एक दिन राजा नदी के उस पार एक महात्मा जी के आश्रम के वहाँ से गुजर रहे … Read more

हनुमान जी की आरती | Hanuman ji Ki Aarti

श्री हनुमान जी की आराधना में हनुमान चालीसा, संकटमोचन हनुमानाष्टक, बजरंग बाण, हनुमान जी की आरती के पाठ का बहुत बड़ा महत्व है। हनुमान जी के पूजा पाठ करने के उपरांत आरती करना अति आवश्यक है आरती करने से पूजा-पाठ को संपूर्ण माना जाता है। हनुमान जी की आरती | Hanuman ji Ki Aarti आरती … Read more

हनुमान जी की जन्म कथा एवं प्रसिद्धि | धार्मिक कहानियां

hanumanji janm khatha avm prasiddhi

हनुमान जी का जन्म त्रेता युग मे अंजना (एक नारी वानर) के पुत्र के रूप मे हुआ था।अंजना असल मे पुन्जिकस्थला नाम की एक अप्सरा थी, मगर एक श्राप के कारण उन्हें नारी वानर के रूप मे धरती पे जन्म लेना पडा। उस श्राप का प्रभाव शिव के अंश को जन्म देने के बाद ही … Read more

गीताजीके नित्य-पठनीय पाँच श्लोक

geeta ke panch shalok

।।श्रीहरि।। नित्य पठनीय एवं कंठस्थ करने योग्य गीता जी के पांच श्लोक वसुदेव सुतं देवं कंसचाणूरमर्दनम्।देवकी परमानन्दं कृष्णं वन्दे जगद्गुरुम्॥ अजोऽपि सन्नव्ययात्मा भूतनामीश्वरोऽपि सन्।प्रकृतिं स्वामधिष्ठाय सम्भवाम्यात्ममायया ॥ 1 ॥ यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत।अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम् ॥ 2 ॥ परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुष्कृताम्। धर्म संस्थापनार्थाय सम्भवामि युगे युगे ॥ 3 ॥ जन्म कर्म च … Read more

सदैव सकारात्मक रहें | प्रेरणादायक कहानी

महाराज दशरथ को जब संतान प्राप्ति नहीं हो रही थी तब वो बड़े दुःखी रहते थे, पर ऐसे समय में उनको एक ही बात से हौंसला मिलता था जो कभी उन्हें आशाहीन नहीं होने देता था।और वह था श्रवण के पिता का श्राप !!! दशरथ जब-जब दुःखी होते थे तो उन्हें श्रवण के पिता का … Read more

हंस और काग | प्रेरणादायक कहानियां

हंस और काग की कहानी

एकबार एक शहर में दो ब्राह्मण पुत्र रहते थे, एक गरीब था तो दूसरा अमीर। दोनों पड़ोसी थे। गरीब ब्राह्मण की पत्नी, उसे रोज़ ताने देती, झगड़ती। एक बार पूर्णिमा के दिन गरीब ब्राह्मण पुत्र अपनी पत्नी के रोज-रोज झगड़ों से तंग आकर जंगल की ओर चल पड़ता है, ये सोच कर, कि जंगल में … Read more

भाई रहा तो, लड़-झगड़ तो फिर भी लेंगे | प्रेरणादायक कहानियां

brother story

डॉक्टर साहब ने स्पष्ट कह दिया, “जल्दी से जल्दी प्लाज्मा डोनर का इंतजाम कर लो, नहीं तो कुछ भी हो सकता है।”रोहन को कुछ भी नहीं सूझ रहा था। माँ फफक- फफक कर रो रही थीं।औरसामने बेड पर थे बाबूजी, जो बेहद ही सीरियस थे। सब जगह तो देख लिया था, सबसे गुहार कर ली … Read more

शेर और सियार| ज्ञानवर्धक कहानियां

बहुत समय पहले की बात है हिमालय के जंगलों में एक बहुत ताकतवर शेर रहता था। एक दिन उसने बारासिंघे का शिकार किया और खाने के बाद अपनी गुफा को लौटने लगा। अभी उसने चलना शुरू ही किया था कि एक सियार उसके सामने दंडवत करता हुआ उसके गुणगान करने लगा। उसे देख शेर ने … Read more